Love kavita In Hindi लव कविता

romantic love poems for her in hindi

couple hug poem
Love kavita In Hindi

मैं ना मंच से तुम्हे गाना चाहूं,
मैं तो तुम्हारे होठो पर गुनगुनाना चाहूं….
ना ही मै किसी अखबार की,
सुर्खियां बनना चाहूं,…
मैं तो तुम्हारे ह्रदय पर रचना चाहूं…
मैं ना किसी किताब में,
प्रकाशित होना चाहूं,
मैं तो तुम्हारे अंतर्मन में अनकही,
अलिखित,अप्रकाशित,
पंक्तियों सा रहना चाहूं…


मैं ना अब किसी का ख्वाब बनना चाहूं,
बस तुम्हारे ख्वाबो में रहना चाहूं….
मैं ना अब कोई और,
इबादत करना चाहूं….
मैं तो तुम्हारे सजदे में ही सर झुकाना चाहूं…
मैं ना अब कोई राज,
बन कर रहना चाहूं….
मैं तो खुली किताब बन कर,
तुम्हारे हाथो में बिखरना चाहूं….
सौं बातो की..
इक बात मैं कहना चाहूं,
सिर्फ तुम ही मुझे पढ़ते रहो,और
मैं सिर्फ तुमको ही लिखता रहूँ….!!!

जहाँ मेरी धड़कने,साँसे कोई मायने,
नही रखती

जहाँ मेरी सारी शिकायते,
खत्म हो जाती है,वो तुम ही हो…
जहाँ मेरी ख्वाईशो की बंदिशे,
नही रहती है,वो तुम ही हो…
जहाँ मेरी धड़कने,साँसे कोई मायने,
नही रखती,वो सिर्फ तुम ही हो….
जहाँ मेरे शब्दों के कोई दायरे नही रहते,


मेरे ख्यालो पर कोई,
पहरे नही रहते,वो सिर्फ तुम ही हो…
जहाँ से मेरी मंजिले खत्म हो जाती है,
तलाश कोई और,
राहो नही रहती,वो सिर्फ तुम ही हो..
जहाँ मेरी सोच,मेरे सारे तर्क-वितर्क,
बेअर्थ हो जाते है,
वो सिर्फ तुम ही तुम हो…!!!