Sad Love Poem In Hindi

कितना आसान था ना तुम्हारे लिये sad poems that make you cry

sad lonely poem in hindi

क्या तुम नही जानते कि,
प्यार में कोई शर्त नही होती….
पर तुमने हर मोड़ पर शर्त रखी,
कि जैसे ये रिश्ता सिर्फ मेरा हो..
तुमने हर लम्हा…
मुझे ये एहसास कराया…
जैसे मुझे इस रिश्ते कि,
तुम्हारी जरुरत है..
हर शर्त रखी की ये मान लूँ,
ऐसे रह सकू जो तुम्हारे साथ..
तो तुम हो मेरे साथ…..
नही तो हमारे रास्ते अलग है….
कितना आसान था ना तुम्हारे लिये,
रास्तो को बदलना,
कितना आसान था ना तुम्हारे लिये,
शर्तो पर रिश्तो को रखना…
मैं मान भी लेता तुम्हारी हर शर्त,
गर तुम्हे मेरी जरुरत होती…
मुझे भ्र्म था कि….
हमे इक-इक दूसरे की जरुरत है..
तुम्हारी शर्तो ने…
वो भ्र्म भी तोड़ दिया,
तुमने भावनाओ का रिश्ता,
जाने कब शर्तो से जोड़ दिया…

sad poems about love and pain in hindi

Sad poem

तू मेरे मुक़द्दर में है या नहीँ
बेशक़ ये मेरे वश में नहीँ
लेक़िन तुझ से मुहब्बत करना
मेरे वश में है..
माना मुक़द्दर की कोई मजबूरी सही
लेक़िन मुहब्बत भी जिद्द पर जरूरी सही
मुकाबला अब दिलचस्प होगा
देखें वक़्त अब किसके पक्ष में होगा..
कुछ सिलसिले
जो अधूरे छूट जाते हैं
मन्ज़िलों पर पँहुचे बग़ैर
कहाँ फ़िर वो रुकते हैं..
ये प्यार का दीया ही तो है
जो दिलों में अक्सर लौ करता है
जिन्हें लग जाती है लग्न प्यार की
किसी के झुकाये नहीँ फ़िर वो झुकते हैँ.!”