Sad Shayari

Sad Shayari

hum hi pagal the

रात गहरी थी डर भी सकते थे
हम जो कहते थे कर भी सकते थे
तुम बिछड़े तो ये भी ना सोचा
हम तो पागल थे मर भी सकते थे


raat gaharee thee dar bhee sakate the
ham jo kahate the kar bhee sakate the
tum bichhade to ye bhee na socha
ham to paagal the mar bhee sakate the

वो पूछ बैठे हमसे
रहने की कोई बेहतरीन जगह
हमने एक नज़र देखा उन्हें
और कहा अपनी औकात में


vo poochh baithe hamase
rahane kee koee behatareen jagah
hamane ek nazar dekha unhen
aur kaha apanee aukaat mein.

सच्ची मोहब्बत में बिछड़ने के बाद
एक वो है जो रोज़ मेरी लंबी उमर
और सलामती की दुआ मांगता है,
एक मै हूं जो उससे बिछड़कर
रोज़ मौत का इंतजार करता हूं


sachchee mohabbat mein bichhadane ke baad
ek vo hai jo roz meree lambee umar
aur salaamatee kee dua maangata hai,
ek mai hoon jo usase bichhadakar
roz maut ka intajaar karata hoon

Socha tha ish kadar

सोचा था कि इस कदर आपको भूल जाऐंगे।
देखकर भी अनदेखा कर जाएगें
लेकिन जब जब आया चेहरा आपका सामनें
सोचा कि इस बार देख ले अगली बार भूल जाएंगे ।।


socha tha ki is kadar aapako bhool jaainge.
dekhakar bhee anadekha kar jaegen
lekin jab jab aaya chehara aapaka saamanen
socha ki is baar dekh le agalee baar bhool jaenge

sad images

हसरतें कुछ और हैं,
वक़्त की इल्तजा कुछ और,
कौन जी सका है जिंदगी को अपनी मर्जी से,
दिल चाहता कुछ और हैं,
और होता कुछ और है!!!!


hasaraten kuchh aur hain,
vaqt kee iltaja kuchh aur,
kaun jee saka hai jindagee ko apanee marjee se,
dil chaahata kuchh aur hain,
aur hota kuchh aur hai!!!!

sad shayari image

“वक़्त के एक दौर में
इतना भूखा था मैं की,
कुछ न मिला तो
धोखा ही खा गया !!”


“waqt ke ek daur mein
itana bhookha tha main kee,
kuchh na mila to
dhokha hee kha gaya !!”

Aaj jamane mai

sad shayari image

आज के ज़माने में…..
किसी से दिल लगाने से पहले…
उससे सच्ची मोहब्बत करने से पहले..
एक बार ये ज़रूर सोच लेना
कि आपका दिल धोखा और दर्द
सहने के काबिल है कि नहीं।


aaj ke zamaane mein…..
kisee se dil lagaane se pahale…
usase sachchee mohabbat karane se pahale..
ek baar ye zaroor soch lena
ki aapaka dil dhokha aur dard
sahane ke kaabil hai ki nahin।

sad shayari image

इंतज़ार किसे कहते हैं जिस दिन तुम्हें समझ आएगा
उस दिन हम बहुत दूर निकल चुके होगे


Intazar kise kehte he jis din tumhe samj ayega
Us din ham bahut dur nikal chuke hoge

sad shayari image

कितनी अजीब है, मेरे अन्दर की तन्हाई भी…
हजारों अपने हैं, मगर याद तुम ही आते हो…।


kitanee ajeeb hai, mere andar kee tanhaee bhee…
hajaaron apane hain, magar yaad tum hee aate ho….

Wo aadat ab bhi baki hai

sad shayari image

कितनी तब्दीलियाँ लाए हैं,
अब हम अपने-आप में….
पर एक तुझे याद करने की,
वो आदत अब भी बाकी है..।


kitanee tabdeeliyaan lae hain,
ab ham apane-aap mein….
par ek tujhe yaad karane kee,
vo aadat ab bhee baakee hai…

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *