very sad 2 line shayari

very sad 2 line shayari

very sad 2 line shayari hello guys welcome to my website here you love to my website i hope you never upsad so keep sport to me

कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर वो रात तुमने गुज़ारी होती….

very sad 2 line shayari
kaheen kisee roz yoon bhee hota hamaaree haalat tumhaaree hotee,
jo raat hamane guzaaree tadap kar vo raat tumane guzaaree hotee….

very sad 2 line shayari

कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर वो रात तुमने गुज़ारी होती….


kaheen kisee roz yoon bhee hota hamaaree haalat tumhaaree hotee,
jo raat hamane guzaaree tadap kar vo raat tumane guzaaree hotee….

आशिकी का अंजाम है शायरी दर्दो ज़ख्म का नाम है शायरी
इस बेवफा दौर मे यारो वफा का परिणाम है शायरी


aashikee ka anjaam hai shaayaree dardo zakhm ka naam hai shaayaree
is bevapha daur me yaaro vapha ka parinaam hai shaayaree

Log kitne ajeb hai yr

very sad 2 line shayari

इस दुनिया के
लोग भी कितने
अजीब है ना ;
सारे खिलौने
छोड़ कर
जज़बातों से
खेलते हैं……..


is duniya ke
log bhee kitane
ajeeb hai na ;
saare khilaune
chhod kar
jazabaaton se
khelate hain……..

very sad 2 line shayari

एक अजीब सुकून है उस नींद में
जो बुरी तरह रोने के बाद आई हो।
ek ajeeb sukoon hai us neend mein
jo buree tarah rone ke baad aayi ho.

किसी शायर से कभी उसकी उदासी की वजह पूछना
दर्द को इतनी ख़ुशी से सुनाएगा की प्यार हो जायेगा


kisee shaayar se kabhee usakee udaasee kee vajah poochhana
dard ko itanee khushee se sunaega kee pyaar ho jaayega

Riston ki mulakat

कुछ रिश्तों को मुलाकातों की गरज नहीं होती…
दिल से ही याद करो वो निखर आया करतें हैं
kuchh rishton ko mulaakaaton kee garaj nahin hotee…
dil se hee yaad karo vo nikhar aaya karaten hain…

very sad 2 line shayari

ग़र उसकी हर बात मे हामी
ना भरी तूने तो बेवफ़ा कहा जाएगा तू,,
क्युंकी लोग अब मोहब्बत नहीं व्यापार करते हैं,,


gar usakee har baat me haamee
na bharee toone to bevafa kaha jaega too,,
kyunkee log ab mohabbat nahin vyaapaar karate hain,,

जरा ठहर ऐ जिंदगी तुझे भी सुलझा दुंगा,
पहले उसे तो मना लूं जिसकी वजह से तू उलझी है।


jara thahar ai jindagee tujhe bhee sulajha dunga,
pahale use to mana loon jisakee vajah se too ulajhee hai.

Lafzo ko samjh

जायका अलग है हमारे लफ़्जो का
कोई समझ नहीं पाता कोई भुला नहीं पाता


jaayaka alag hai hamaare lafjo ka
koee samajh nahin paata koee bhula nahin paata

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *