very sad 2 line shayari

very sad 2 line shayari

हमारे दिल से निकलने का रास्ता भी ना ढूंढ़ सके…..
जो कहते थे तुम्हारी रग-रग से वाकिफ है हम..


hamaare dil se nikalane ka raasta bhee na dhoondh sake…..
jo kahate the tumhaaree rag-rag se waakif hai ham..

Aaj wo mere dil se dur na hui

very sad 2 line shayari

हमेशा दुवावो में मैंने मांगा उसे
मगर मेरी दुवाएं कुबूल न हुई।
हो गयी वो किसी और की फिर भी
मगर आज भी मेरे दिल से दूर न हुई।।


hamesha duvaavo mein mainne maanga use
magar meree duvaen kubool na huee.
ho gayee vo kisee aur kee phir bhee
magar aaj bhee mere dil se door na huee..

वहाँ तो सिर्फ उसकी चूड़ी खनकी हैं ,
तो इतना शोर-शराबा है.
यहाँ तो मेरा दिल टूटा हैं ,
फ़िर भी कितना सन्नाटा हैं !


vahaan to sirph usakee choodee khanakee hain ,
to itana shor-sharaaba hai.
yahaan to mera dil toota hain ,
fir bhee kitana sannaata hain !

इश्क मे ख्वाब का टूटना
ये तो मोहब्बत का दस्तूर होता है
दर्दो जख्म युही नही मिलते
अपना भी कुछ कसूर होता है


ishk me khvaab ka tootana
ye to mohabbat ka dastoor hota hai
dardo jakhm yuhee nahee milate
apana bhee kuchh kasoor hota hai

Ishq marzi hai khuda ki

इस हकीकत से खूबसूरत कोई ख्वाब नहीँ…
इश्क मजीँ हैं खुदा की कोई इतफाक नही।
is hakeekat se khoobasoorat koee khvaab naheen…
ishk majeen hain khuda kee koee itaphaak nahee.

एक सिल-सिले की उम्मीद थी जिनसे,
वही फ़ासले बनाते गये।
हम तो पास आने की कोशिश में थे,
ना जाने क्यूँ वो हमसे दूरियाँ बढ़ाते गये।


ek sil-sile kee ummeed thee jinase,
vahee faasale banaate gaye.
ham to paas aane kee koshish mein the,
na jaane kyoon vo hamase dooriyaan badhaate gaye.

क्या सोचकर पूछा तुमने कि धोखा तो नहीं दोगे,
और जवाब क्या दें हम, जब सवाल ही नहीं उठता…


kya sochakar poochha tumane ki dhokha to nahin doge,
aur javaab kya den ham, jab savaal hee nahin uthata…

Sidhe dil se hi pad lo

छुप छुप कर क्यूँ पढ़ते हो…… अल्फ़ाजों को मेरे…
सीधे दिल ही पढ़ लो…… सांसों तक तुम ही हो मेरे…..


chhup chhup kar kyoon padhate ho…… alfaajon ko mere…
seedhe dil hee padh lo…… saanson tak tum hee ho mere..

तेरी गली का सफर आज भी याद है मुझे,
मैं कोई वैज्ञानिक तो नहीं था,
पर खोज लाजवाब थी मेरी…..


teree galee ka saphar aaj bhee yaad hai mujhe,
main koee vaigyaanik to nahin tha,
par khoj laajavaab thee meree…..

वहाँ तो सिर्फ उसकी चूड़ी खनकी हैं ,
तो इतना शोर-शराबा है.
यहाँ तो मेरा दिल टूटा हैं ,
फ़िर भी कितना सन्नाटा हैं !


vahaan to sirph usakee choodee khanakee hain ,
to itana shor-sharaaba hai.
yahaan to mera dil toota hain ,
fir bhee kitana sannaata hain !

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *